Home जगम्मनपुर पचनद धाम की मिट्टी लेकर कार्यकर्ता अयोध्या रवाना हुए
जगम्मनपुर - July 31, 2020

पचनद धाम की मिट्टी लेकर कार्यकर्ता अयोध्या रवाना हुए

जगम्मपुर (जालौन)। चंबल घाटी के नाम से प्रसिद्ध विश्व का इकलौता तीर्थ पंचनद धाम जहां पर 800 ईसा पूर्व अज्ञातवास के समय भीमसेन ने कालेश्वर मंदिर की स्थापना की थी तथा 1636 में रामचरितमानस के रचयिता श्री गोस्वामी तुलसीदास जी ने रामायण के कुछ अंश यहां पर लिखे इस पवित्र भूमि की मिट्टी हर-हर महादेव और जय श्रीराम के उद्घोष के साथ जिलाध्यक्ष डॉ. भास्कर अवस्थी ने बताया कि यहां से मिट्टी कानपुर भेजी जा रही है, जहां से अयोध्या के लिए रवाना की जाएगी। कोरोना काल के कारण संगठन के कई नेता और कार्यकर्ताओं ने चाहते हुए भी अयोध्या नहीं पहुंच पा रहे हैं।
पांच अगस्त को अयोध्या में राममंदिर के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम तय है। इसके बाद मंदिर निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। भूमि पूजन में 21 जिलों के धार्मिक स्थलों की मिट्टी प्रयोग में लाई जाएगी। इसी के अंतर्गत गुरुवार को विहिप कार्यकर्ताओं ने जालौनी माता, दोहर मंदिर, ठड़ेश्वरी मंदिर, पचनद और कालपी के वनखंडीदेवी मंदिरों से वहां की पवित्र माटी एकत्र की। सभी मंदिरों में धार्मिक अनुष्ठानों के साथ मिट्टी निकालकर उसे कलश में डाला गया। सभी मंदिरों की मिट्टी को फिर उरई के ठड़ेश्वरी मंदिर परिसर में लाया गया। जहां से विहिप कार्यकर्ता मिट्टी का कलश लेकर कानपुर के लिए रवाना हुए।

Check Also

नई सोच और बेहतर परंपराओं को अपना रहे नई पीढ़ी के किशोर

0 कृष्णा ने अपने जन्म दिन पर गौवंश संरक्षण की दिशा में दिया संदेश सत्येन्द्र सिंह राजावत उ…