News India Express
उरई

चोरी की तहरीर को दरोगा जी ने रद्दी की टोकरी में फेंका

0 96 घंटे बाद भी पीड़ित गृहस्वामी को नहीं मिला न्याय
0 न्याय की आशा में पीड़ित गृहस्वामी बना चकरघिन्नी

सत्येन्द्र सिंह राजावत
उरई (जालौन)। पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देशों को किस तरह से कोंच बस स्टैंड उरई चैकी प्रभारी हवा में उड़ाते नजर आ रहे है इसका जीता जागता नमूना उस दौरान देखने को मिला जब उनके क्षेत्र में 3 अप्रैल की रात्रि को हुई चोरी के मामले की तहरीर लेकर जब पीड़ित उनके पास पहुंचा तो उन्होंने उसे रद्दी की टोकरी में फंेकते हुये उसे टरका दिया। हैरानी की बात तो यह है कि चैकी प्रभारी को दी गयी तहरीर में पीड़ित ने संदेह के आधार पर चोरों के नाम का भी उल्लेख किया था।
चोरी के मामले की जानकारी देते हुये पीड़ित संतोष पुत्र रामप्रकाश निवासी उमरारखेरा ने बताया कि 3 अप्रैल को अपने परिवारजनों के साथ समीप के ही गांव बजीदा चला गया था। उसी रात्रि उसके घर में चोरी की घटना को अंजाम देकर दस हजार रुपये नकद सहित सोने, चांदी के जेवरात व अन्य कीमती सामान चोर चुरा ले गये थे। जब मुझे घटना की सूचना मिली तो मैं उरई आया और कोंच बस स्टैंड उरई पुलिस चैकी प्रभारी को घटना की लिखित तहरीर देकर अनूप व कमलेश पर चोरी करने का शक जाहिर किया था लेकिन चैकी प्रभारी ने मेरी तहरीर को रद्दी की टोकरी में फेंकते हुये मुझे टरका दिया। चैकी प्रभारी ने जब चोरी के मामले में कुछ नहीं किया तो मैंने कोतवाली पहुंचकर दूसरी तहरीर दी। लेकिन वहां से भी मुझे वापस भेज दिया गया। पीड़ित का कहना था कि यदि उसके घर हुई चोरी के मामले में पुलिस ने तहरीर में नामजद आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया तो वह पुलिस अधीक्षक से मिलकर चोरी के मामले की शिकायत करने को विवश होगा।

Related posts

जिलाधिकारी ने कार्यभार संभाल, अधिकारियों से लिया परिचय

newsindiaexpress

प्रकृति वंदन में कुटुम्बजनों के साथ पौधों को रक्षासूत्र बांधा

newsindiaexpress

उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा नौ दिसम्बर को आयेगे उरई

newsindiaexpress